Transport

Railway Complaint: Online

ऑनलाइन दर्ज होगी रेल यात्रियों की शिकायत

आरपीएफ के पास होगा रेल यात्रियों की शिकायतों का ब्योरा

Click here to enlarge image

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : रेलवे स्टेशन परिसर या फिर सफर के दौरान ट्रेन में यात्रियों के साथ होने वाली वारदात की शिकायत अब ऑनलाइन दर्ज होगी। इससे यात्री को अपनी शिकायत को लेकर इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। साथ ही इससे रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के हेल्पलाइन नंबर पर झूठी शिकायत करने वालों पर अंकुश लग सकेगा।1आरपीएफ के कंट्रोल रूम में ऑटोमैटिक कॉल डायवर्ट मशीन लगाई जा रही है। इसके लगने के बाद आरपीएफ हेल्पलाइन नंबर पर आने वाली शिकायतों का अपने आप पंजीकरण हो जाएगा। शिकायत पंजीकृत होते ही एक विशेष नंबर यात्री व संबंधित रेलवे स्टेशन के आरपीएफ थाने को भेजा जाएगा। इस नंबर के आधार पर यात्री को दी जाने वाली मदद को आरपीएफ ऑनलाइन अपडेट करेगी। रेल यात्रियों की सुविधा के लिए आरपीएफ ने 182, राजकीय रेल पुलिस (जीआरपी) ने 1512 और रेलवे ने 138 हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। यात्रियों की सुरक्षा से संबंधित शिकायत 182 एवं 1512 पर की जाती है। वहीं खानपान व अन्य मामलों की शिकायत 138 नंबर पर की जाती है। कोई यात्री 182 नंबर पर कॉल करता है तो यह सूचना आरपीएफ के कंट्रोल रूम में पहुंचती है। वहां पर तैनात कर्मचारी शिकायत को रजिस्टर में दर्ज करता है। उसके बाद उस स्टेशन के आरपीएफ को इसकी सूचना दी जाती है जहां ट्रेन पहुंचने वाली होती है। कई बार कर्मचारियों की गलती या लापरवाही से यात्रियों की शिकायत सही ढंग से दर्ज नहीं होती है। परिणाम स्वरूप पीड़ित यात्री को मदद नहीं मिल पाती है। इसमें सुधार करने के लिए सभी रेल मंडलों के आरपीएफ कंट्रोल रूम में ऑटोमैटिक कॉल डायवर्ट मशीन लगाने की योजना है। इससे यात्रियों की शिकायतों का सही ढंग से निपटारा किया जा सकेगा। साथ ही शिकायत का पूरा रिकॉर्ड भी आरपीएफ के पास होगा। गलत शिकायत करने वालों की भी पहचान हो सकेगी।

Advertisements